श्री गोरखनाथ चालीसा

Shri Gorakhnath Chalisa

Guru Gorakhnath Chalisa
  • Like & Share on Facebook
<

श्री गोरखनाथ चालीसा हिंदी बोल

॥दोहा॥

गणपति गिरजा पुत्र को सुमिरु बारम्बार |
हाथ जोड़ बिनती करू शारद नाम आधार ||

॥चौपाई॥

जय जय जय गोरख अविनाशी | कृपा करो गुरुदेव प्रकाशी ||
जय जय जय गोरख गुण ज्ञानी | इच्छा रूप योगी वरदानी ||


अलख निरंजन तुम्हरो नामा | सदा करो भक्त्तन हित कामा ||
नाम तुम्हारो जो कोई गावे | जन्म जन्म के दुःख मिट जावे ||


जो कोई गोरख नाम सुनावे | भूत पिसाच निकट नहीं आवे||
ज्ञान तुम्हारा योग से पावे | रूप तुम्हारा लख्या न जावे ||


निराकार तुम हो निर्वाणी | महिमा तुम्हारी वेद न जानी ||
घट - घट के तुम अंतर्यामी | सिद्ध चोरासी करे परनामी ||


भस्म अंग गल नांद विराजे | जटा शीश अति सुन्दर साजे ||
तुम बिन देव और नहीं दूजा | देव मुनिजन करते पूजा ||


चिदानंद संतन हितकारी | मंगल करण अमंगल हारी ||
पूरण ब्रह्मा सकल घट वासी | गोरख नाथ सकल प्रकाशी ||


गोरख गोरख जो कोई धियावे | ब्रह्म रूप के दर्शन पावे ||
शंकर रूप धर डमरू बाजे | कानन कुंडल सुन्दर साजे ||


नित्यानंद है नाम तुम्हारा | असुर मार भक्तन रखवारा ||
अति विशाल है रूप तुम्हारा | सुर नर मुनि जन पावे न पारा ||


दीनबंधु दीनन हितकारी | हरो पाप हम शरण तुम्हारी ||
योग युक्ति में हो प्रकाशा | सदा करो संतान तन बासा ||


प्रात : काल ले नाम तुम्हारा | सिद्धि बढे अरु योग प्रचारा ||
हठ हठ हठ गोरछ हठीले | मर मर वैरी के कीले ||


चल चल चल गोरख विकराला | दुश्मन मार करो बेहाला ||
जय जय जय गोरख अविनाशी | अपने जन की हरो चोरासी ||


अचल अगम है गोरख योगी | सिद्धि दियो हरो रस भोगी ||
काटो मार्ग यम को तुम आई | तुम बिन मेरा कोन सहाई ||


अजर अमर है तुम्हारी देहा | सनकादिक सब जोरहि नेहा ||
कोटिन रवि सम तेज तुम्हारा | है प्रसिद्ध जगत उजियारा ||


योगी लखे तुम्हारी माया | पार ब्रह्म से ध्यान लगाया ||
ध्यान तुम्हारा जो कोई लावे | अष्ट सिद्धि नव निधि पा जावे ||


शिव गोरख है नाम तुम्हारा | पापी दुष्ट अधम को तारा ||
अगम अगोचर निर्भय नाथा | सदा रहो संतन के साथा ||


शंकर रूप अवतार तुम्हारा | गोपीचंद, भरथरी को तारा ||
सुन लीजो प्रभु अरज हमारी | कृपासिन्धु योगी ब्रहमचारी ||


पूर्ण आस दास की कीजे | सेवक जान ज्ञान को दीजे ||
पतित पवन अधम अधारा | तिनके हेतु तुम लेत अवतारा ||


अखल निरंजन नाम तुम्हारा | अगम पंथ जिन योग प्रचारा ||
जय जय जय गोरख भगवाना | सदा करो भक्त्तन कल्याना ||


जय जय जय गोरख अविनाशी | सेवा करे सिद्ध चोरासी ||
जो यह पढ़े गोरख चालीसा | होए सिद्ध साक्षी जगदीशा ||


हाथ जोड़कर ध्यान लगावे | और श्रद्धा से भेंट चढ़ावे ||
बारह पाठ पढ़े नित जोई | मनोकामना पूर्ण होई ||

श्री गोरखनाथ मंत्र-
"ॐ नमो महादेवी
सर्वकार्य सिद्धकर्णी जो पाती पुरे
ब्रह्मा विष्णु महेश तीनो देवतन
मेरी भक्ति गुरु की शक्ति
श्री गुरु गोरखनाथ की दुहाई
फुरो मंत्र ईश्वरो वाचा || "

गुरु गोरखनाथ शाबर मंत्र -

ॐ वज्र में कोठा, वज्र में ताला,

वज्र में बंध्या दस्ते द्वारा,

तहां वज्र का लग्या किवाड़ा,

वज्र में चौखट, वज्र में कील,

जहां से आय, तहां ही जावे,

जाने भेजा, जांकू खाए,

हमको फेर न सूरत दिखाए,

हाथ कूँ, नाक कूँ, सिर कूँ,

पीठ कूँ, कमर कूँ, छाती कूँ,

जो जोखो पहुंचाए,

तो गुरु गोरखनाथ की आज्ञा फुरे,

मेरी भक्ति गुरु की शक्ति

फुरो मंत्र इश्वरोवाचा ||


Find More Aarti

श्री गणेश चलिसा - जय गणपति सद्गुण सदन ......
Shri Ganesh Chalisa - jai Ganpati sadgun sadan....

श्री शीतला चलिसा - जय-जय-जय श्री शीतला भवानी ......
Shri Sheetla Chalisa - Jai-Jai-Jai Shri Shitala....

श्री हनुमान चलिसा - जय हनुमान ज्ञान गुन सागर ......
Shri Hanuman Chalisa - Jai Hanuman gyan gun....

श्री शिव चालीसा - जय गिरिजा पति दीन दयाला ......
Shri Shiv Chalisa - Jai Girijapati deen dayala....

श्री बालाजी चालीसा - जय हनुमान बालाजी देव ......
Shri Balaji Chalisa - jai Hanuman Balaji Dev....

श्री काली चालीसा - ओम नमो महा काली रूपम ......
Shri Kali Chalisa - Om namo mahakali roopam....

श्री दुर्गा चालीसा - नमो नमो दुर्गे सुख करनी ......
Shri Durga Chalisa - Namo Namo Durge Sukh....

श्री लक्ष्मी चालीसा - सिन्धु सुता मैं सुमिरौ तोही ......
Shri Lakshmi Chalisa - Sindu Suta Main Sumirau....

श्री शारदा चालीसा - जय जय जय शारदा महारानी ......
Shri Sharda Chalisa - Jai Jai Jai Sharada...

श्री शिर्डी साईं बाबा चालीसा - पहले साईं के चरणों में......
Shri Sai Baba Chalisa - Pehle Sai Ke Charan Main....

Find More Chalisa

श्री बजरंग बाण - जय हनुमंत संत हितकारी ......
Shri Bajrang Baan - Jai Hanumant Sant Hitakari...

श्री कृष्ण चालीसा - जय यदुनन्दन जय जगवन्दन......
Shri Krishna Chalisa - Jai jai Yadunandan jag....

श्री वैष्णों चालीसा - नमो: नमो: वैष्णो वरदानी ......
Shri Vaishno Chalisa - Namo-Namo Vaishno ....

श्री चामुण्डा चालीसा - नमस्कार चामुंडा माता ......
Shri Chamunda Chalisa - Namaskar Chamunda....

श्री विन्धेश्वरी चालीसा - जय जय विन्ध्याचल रानी ......
Shri Vindheshwari Chalisa - Jai Jai Jai Vindhyachal..

श्री तुलसी चालीसा - धन्य धन्य श्री तलसी माता ......
Shri Tulsi Chalisa - Dhanya Dhanya Shri Tulasi....

श्री राम चालीसा - राम रमापति रघुपति जै जै ......
Shri Ram Chalisa - Ram Rampati Raghupati Jai Jai....

श्री विष्णु चालीसा - जै जै धरणीधर श्रुति सागर ......
Shri Vishnu Chalisa - Jai jai Dhranidhar shruti....

श्री नवग्रह चालीसा - श्री गणपति ग़ुरुपद कमल......
Shri Navgrah Chalisa - Shri Ganapati Gurupad....

श्री शनि चलिसा - जयति जयति शनिदेव दयाला ......
Shri Shani Chalisa - Jayati jayati shanidev Dayala....