17 कैंसर कारक खाद्य-पदार्थ


कैंसर कारक मांसाहारी खाद्य पदार्थ


04. फार्म में पैदा की गयी सलमोन (Farm-raised salmon) –



Salmon एक तरह की मछली है जो बहुत से देशों में पसंद की जाती है। इसकी मांग ज्यादा होने की वजह से इसे बड़े स्तर पर पैदा किया जाने लगा है । इसकी size बढ़ाने के लिए और इनकी पैदावार बढ़ाने के लिए इनको अप्राकृतिक आहार दिया जाता है। इनको गुलाबी रंग देने की लिए भी रसायन का उपयोग होता है । यह फार्म वाली salmon fish भी कैंसर का कारण बन सकती है ।


03. हार्मोन्स और एंटीबायोटिक दवाओं से बड़ा किया हुआ मांस (Meat Raised with Hormones and Antibiotics) –



जानवरों के वजन को बढ़ाने के लिए विभिन्न हार्मोन का उपयोग किया जाता है, ताकि उनमें से ज्यादा से ज्यादा मीट मिल सके । और कई एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग भी किया जाता है जो उन जानवरों को ख़राब स्थिति में भी सही रखतीं है । ये दवाएं वजन को बढानें का काम भी करती हैं । जानवरों में इनके उपयोग से, इनका मीट खाने वालों के स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर पड़ता है ।

अधिकांश एस्ट्रोजेनिक हार्मोन मनुष्यों में (खासकर महिलाओं में) कैंसर पैदा करने वाले (कार्सिनोजेनिक) होते हैं। कई देश ऐसे हैं, जो ऐसे हार्मोन्स और एंटीबायोटिक के उपयोग पर और ऐसे जानवरों के मीट के पर प्रतिबन्ध लगाये हुए हैं । ये भी कैंसर जैसी बिमारियों का एक कारण है ।

02. लाल मांस ( Red meat) –



लाल मीट का सेवन करना भी उतना ही नुकसानदायक हो सकता है जितना अन्य कैंसर कारको का सेवन करना । यह भी कैंसर के खतरे को बढाता है ।


01. प्रोसेस्ड मीट ( Processed meats) –



प्रोसेस्ड मीट में बेकन, सॉसेज, हॉट डॉग, डेली मीट, बीफ जर्क, हैम शामिल हैं। प्रोसेस्ड मीट बनाने का मुख्य कारण इसको लम्बे समय तक अच्छा रखना और उसके स्वाद को बदलना। मीट को प्रोसेस्ड करने के लिए ऐसे तरीके उपयोग में लाये जाते हैं जिससे यह मीट कैंसर को बुलावा देता है ।



अभी हमने उन 17 कैंसर कारक खाद्य-पदार्थ के बारे में जाना जिनकी वजह से कैंसर का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। अगर आप कैंसर और इस जैसी खतरनाक बिमारियों से बचना चाहते हैं तो कुछ बातों का जरूर ध्यान रखें –

  • हमेशा प्राकृतिक रूप से पैदा किये गए खाद्य पदार्थों जैसे फल, सब्जी, तेल आदि का उपयोग करें ।
  • कोई भी सब्जी, फल या अन्य कोई खाद पदार्थ का उपयोग करने के पूर्व उसे अच्छी तरह धो लें ।
  • अपनी दिनचर्या को नियमित करें और प्रतिदिन सुबह कम से कम 20 मिनट व्यायाम या योगा जरूर करें । इससे आपके अन्दर दिन भर ऊर्जा रहेगी और आप हमेशा स्वास्थ्य रहेंगे ।
  • इसके अलावा ध्यान रखें कि किसी भी खाद्य वस्तु का अत्यधिक सेवन हानिकारक होता है अतः सदैव अपने आहार में हर तरह के खाद्य पदार्थ शामिल करें ।

1 Response

  1. Varsha says:

    Helpful information 😳

Leave a Reply

Your email address will not be published.